Ratan tata अमीर कैसे बने?

गाड़ीयों के शोक रखने वाले से लेकर रोजाना इस्तेमाल होने वाले जरूरी सामग्रि को खरीदने वाले लोग Tata Group के वारे मे जरूर जानते होंगे। लेकिन बहुत लोग ये नहीं जानते है की Tata कम्पनी के मालिक कौन हैं और इसकी शुरूवात कैसे हुये थे।

Tata Group के मालिक Ratan Tata एक बहुत ही successful Businessman हैं जो काफि प्रसिध्द इंसान हैं।

लेकिन किया आप जानना चाहते है की Ratan Tata ने अपनी journey कैसे शुरू की थी?

इस पोस्ट मे हम आपको Tata कम्पनी के मालिक Ratan Tata के वारे मे बताएंगे। साथ ही ये भी बताएंगे की आखिर उन्होंने कैसे business मे इतनी तरक्की की।

Ratan Tata amir kaise bane

Ratan Tata की वारे मे:

1937 के 28 Decembar को मुंबई मे रतन टाटा के जन्म हुए थे। उनके पिता का नाम Naval tata था जो एक businessman था। आज (2021) मे वो 83 साल के हो सुके है।

Ratan tata को आर्किटेक् की पढ़ाई करने की बहुत मन थी इसलिए उन्होने इसकी पढ़ाई करने के लिए अमेरिका की कॉर्नेल university मे चले गये। Ratan को खुद के दम पर पैसा कमाने की बहुत जिद् थी। वो कॉलेज मे पढ़ते समय खुदके pocket money निकल ने के लिए होटल मे काम करते थे।

उन्होने Business करना कब और कैसे शुरू की:

साल 1998 मे Ratan Tata ने भारत मे पहली Indian Car बनाने की सोची और Tata Indica को launch किया। उस समय कोई भी Indian Comapany गाड़ी नहीं बनाते थे। Indica गाड़ी भारत मे बहुत लोगो ने खरीदा और उस समय ये गाड़ी बहुत ही सफल हुई।

आज के समय मे 100 से ज्यादा देशों मे उनके Business फैलीं हुई हैं। Tata ग्रुप के कुछ कंपनियों के नाम है:- Tata Steel, Tata Consultancy, Tata chemicals, Tata Hotels आदि। भारत सबसे बड़े IT कम्पनी TCS के मालिक भी Ratan जी ही हैं। दोस्तो आपको ये बता दु की Tata ग्रुप के अंदर इतने कम्पनी है की अगर इस लेख मे उन Comapnies के नाम लिखा जाए तो ये पोस्ट बहुत ही लम्बा हो जाएगा।

2002 मे उन्होने चाय (Tea) कम्पनी Tetly को खरीद लिए जो UK की बहुत है famous चाय बनाने वाले कम्पनी हैं। इसके अलावा उन्होने काफि Startups मे भी निवेश किया जेसे:- Snapdeal, Paytm, Cashkaro, Firstcry, lenskart आदि।

Read more- Mumbai में कौनसी Business करें?

Ratan जी कैसे इतने सफल हुई?

उनका business करने का तरीका बहुत ही जबरदस्त है। अगर कोई काम को उन्होने करने की मन बना लिये तो उस काम को वो सफल हो कर ही रहते है।

ग्राहक के वारे मे वो सबसे पहले सोचता है की आखिर ग्राहक को किया चीज की जरूरत है और उसे कम से कम दाम मे कैसे दिया जाये।

एक समय था जब low middle class लोगो के लिए गाड़ी खरीदना Impossible जेसे था। फिर Ratan Tata ने 1 लाख रुपये मे Nano गाड़ी मार्केट मे ले आये और ये गाड़ी भी लोगो ने बहुत पसंद की। इसी से आप पता लगा सकते हो की Ratan जी लोगो के जरूरतो को कैसे पहचान लेते है।

Read More- Mukesh Ambani अमीर कैसे बने?

Conclusion:

आप ये जान कर हैरान हो जाएंगे की इतने अमीर बनने के बाद भी Ratan Tata भारत के top 10 अमीर लोगो के list मे नहीं आते क्योंकी उनके Net Worth ( मूल सम्पर्टि) के 60% पैसा दान कर देते है। दुनिया के सबसे बड़े दान मे उनका नाम सबसे पहले है।

गरीबो की मदद करनी हो या Tata Group की किसी employe की, वो कभी भी पिछे नहीं हटती। इसी वजह से लोगो की नजर मे Ratan Tata महान इंसान है।

तो इस पोस्ट के जरिये आपने सिखा की Ratan Tata इतने बड़े Businessman कैसे बने। ईसा ही और जबदस्त लेख को पढ़ने के लिए अपना ईमेल submit कीजिए।

Write A Comment